Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi

Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi:- आपने अक्सर कहते सुना होगा की महिलायों की खूबसूरती उनके बालों से होती है , लेकिन बदलते परिवेश और बढते प्रदुषण के कारण आज महिलायों को ही सिर्फ बालो से जुडी परेशानियों का ही सामना नहीं करना पढ़ रहा है |बल्कि कई पुरुष भी अब बालो के गिरने की समस्या की शिकायत करते है, आजकल बालो का लगतार गिरना , कमजोर पड़ना, सफ़ेद होना , और बालो में रुसी की समस्या आम बात हो गयी है …..यू तो जगह जगह हेयर क्लिनिक में हेयर ट्रीटमेंट के नाम पर अच्छी खासी रकम वसूल कर के ये दावा किया जाता है की बालो से जुडी समस्याओं से आपको हमेशा के लिए छुटकारा दिलाया जायेगा …..लेकिन अब बालों की इन समस्याओं से आपको ओर घबराने की जरुरत नहीं है , क्योंकि हम आपको बालो की इन बढती तकलीफों के लिए कोई महंगे ट्रीटमेंट नहीं बल्कि कुछ अचूक घरेलू उपचार बताने जा रहे है जो बना देगा आपके बालो को पहले से भी ज्यादा मजबूत और खूबसूरत तो आईये जानते है…..

ऐसे करें बालो की देखभाल- (Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi)

1 मैथी के रस को बालो में लगाये

2 प्याज का रस को बालो में लगाये ,(Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi) प्याज का रस बालो के लिए बहुत ही गुणकारी होता है और dandruff से मुक्ति दिलाने में भी बहुत ही कारगर साबित होता है

3 गीले बालो में कभी कंघी न करे , इससे dandruff की समस्या और ज्यादा बढेगी

4 हेयर ड्रायर का ज्यादा इस्तेमाल न करे

5 केमिकल शैम्पू के ज्यादा प्रयोग से बचे, ओर शैम्पू को सीधा जडो में ना लगाये

6 बालो में कंघी करते समय बालो को बुरी तरह ना खीचें

7 सप्ताह में एक बार केले का पेस्ट बनाकर इसे बालो में लगाये,(Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi) इसके प्रयोग से बाल रेशमी, घने और मजबूत बनेंगे

8  बालो में नियमित तेल के प्रयोग से बचे, ऐसा करने से बालो के झरने की संभावना बढ़ जाती है

Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi

अगर आप बालो की झरने की समस्याओं से पीड़ित है तो आपको सबसे पहले बालो के झरने के कारणों के बारे में पूरी जानकारी होनी जरुरी है ताकि आप सही दिशा में उपचार करके बालो की सभी समस्यायों से छुटकारा पा सके…..

आयरन की कमी

शरीर में आयरन की कमी होने पर बालो के झरने जैसी समस्याए होना स्वाभाविक है,(Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi) जो व्यक्ति अपने भोजन में आयरन नहीं लेते या उनका शरीर आयरन सोख नहीं कर पाता उनको अक्सर बालो से जुडी ये समस्याए हो जाती है, इसलिए यदि आप अपने भोजन में आयरन को बढ़ा देते है तो आप बालो की सभी समस्याओं से निजात पा सकते है|

दवायों के दुस्प्रभाव

अक्सर कुछ दवाओं शरीर के लिए विपरीत परिणाम देने वाली होती है , इन दवाओ के दुष्प्रभावों की वजह से बाल झड़ने लगते है |इसके अलावा गठिया, हृदय की समस्याओं, उच्च रक्तचाप, अवसाद, खून पतला करने वाली दवाए भी बालो के झरने के लिए जिम्मेदार होती है |

आहार

यदि आप बालो की समस्यायों से पीड़ित है तो पहले ये सुनिश्चित कर ले की कही आप अपने भोजन में जो आहार शामिल कर रहे है उसमे सभी जरुरी पोषक तत्व पूर्ण रूप से शामिल है या नहीं ?….क्योंकि अक्सर लोग भोजन में कम प्रोटीन लेते है जिससे वह प्रोटीन कुपोषण का शिकार हो जाते है |शरीर में प्रोटीन का अभाव होने पर ये बालों को बढ़ना रोक देते है|

तनाव

आज की इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी बेहतर देने की ललक में हर व्यक्ति अग्रसर है ,(Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindi) जिसमे बड़ी मात्रा में ऊर्जा शरीर से बाहर निकलती है, जिससे तनाव का स्तर बढ़ता है। और बालो के झड़ने और टूटने की समस्या पैदा होती है ,ज्यादातर लोगों में यह देखा गया है कि भारी तनाव के कारण उनके बाल झड़ते हैं।जिससे कभी कभी गंजापन भी हो जाता है|

हार्मोन परिवर्तन

जहां बालो के झरने या गिरने से का सवाल है ये सिर्फ उचित आहार और बेहतर लाइफस्टाइल के जरिए नहीं रुक सकता बल्कि कभी कभी ये अनुवांशिक भी हो सकता है , साथ ही हार्मोनल परिवर्तन के कारण भी बालो के झड़ने की संभावना बढ़ सकती है |जैसे गर्भावस्था और प्रसव के दौरान शरीर में हार्मोन के स्तर में होने वाले उतार-चढ़ाव से भी भारी मात्रा में बाल झड़ते हैं। थाइरॉइड इंबैलेंस, मासिक धर्म का बंद हो जाना और अन्य हार्मोन से संबंधित अवस्था में भी बाल तेजी से झड़ते हैं।

मौसमी परिवर्तन

आपके ऑफिस या घर में लगा एयर कंडीश्नर आपके लिए आरामदायक और सुखद हो सकता है, पर आपके बालों के साथ ऐसा नहीं है। चूंकि बाल काफी नाजुक होते हैं, इसलिए वातावरण में बदलाव का असर इस पर सबसे ज्यादा पड़ता है। ऐसे में जरूरी है कि बालों का अच्छे से ख्याल रखा जाए। और परिवेश के अनुसार ही अपने बालो की भी देखभाल की जाये|

आजकल कई मेडिकल इंस्टिट्यूट और हेयर क्लिनिक्स में बालो की स्थिति जानकर बालो को झड़ने से रोकने का इलाज किया जाता है ये इलाज निम्नं प्रकार की अवधियो के अंतर्गत किया जाता है जिसमे बालों का गिरना हफ्तों मे कम हो सकता है। इलाज की पूरी अवधि हर मरीज़ के ऊपर निर्भर करता है।

1 बालों के गिरने की अवधि

ग्रस्त क्षेत्र

बीमारी का प्रस्तर

पिछली दवाईयाँ

संबंधित बिमारियाँ जैसे कि माधूमेह, थाईरोईड की बीमारियाँ

(Balo Ko Jhadne Se Rokne Ke Upay In Hindiबालो से जुडी कुछ अहम् जानकारी हमने अपनी इस वेबसाइट पर अपने तमाम विएव्वेर्स के लिए साझा की है आशा करते है ये जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी ज्यादा जानकारी के लिए आप हमारे ब्लोग्स और वेबसाइट पर कमेंट लिख सकते है ….

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here