Lu Lagne Par Prathmik Upchar In Hindi

(lu lagne par prathmik upchar in hindi) :- इस भीषण गर्मी के कारण भारत में पानी की ख़ासा कमी पड़ती रहती हैं, और यही कमी लोगो के शरीर में भी बनी रहती हैं जिसके चलते कई लोगो को गर्मी के कारण लू लगने की सम्भावना बढती चली जाती हैं, गर्मियों में उतर से पूर्व और पश्चिम से पूर्व की और चलने वाली हवाओ को लू कहा जाता है! अगर किसी व्यक्ति को लू लग जाती हैं तो उस व्यक्ति के शरीर में कोशिकाओं के लिए प्रोटीन व ऊष्मा की कमी होने लगती हैं जिसके कारण शरीर का तापमानी नियंत्रण बिगड़ने लगता हैं जिसके असर कभी कभी बहुत गंभीर हो सकते हैं व कभी कभी तो व्यक्ति को मौत का भी सामना करना पड़ सकता हैं!

भारत की गर्मी के बारे में बात करे तो हम सभी जानते हैं की भारत एक ऐसा देश हैं जहाँ अधिकतर राज्य 50 डिग्री टेम्परेचर की मार झेलते हैं बल्कि कुछ राज्ये तो ऐसे भी हैं जहाँ टेम्परेचर इससे भी पार चला जाता हैं!

(Lu Lagne Par Prathmik Upchar In Hindi) – लू लगने पर कौनसे प्राथमिक उपचार आपको करने चाहिए, आज हम इस आर्टिकल के ज़रिये आपको बताएँगे!

* लू से पीड़ित व्यक्ति को गीली चादर में लपेटकर लू के प्रभाव को कम करने की कोशिश करे!

* हाथ पैर की मालिश करे जिससे रक्त स्त्राव में बढ़ोतरी हो!

* उस व्यक्ति को तुरंत ढीले कपडे पहनाय!

* नमक और चीनी का घोल पीड़ित व्यक्ति को पिलाये!

* बर्फ के टुकड़े को कपडे में रखकर उसे पुरे शरीर में घुमाये!

* पीड़ित व्यक्ति को तुरंत छाँव में ले जाए और तुरंत हवा पानी का इंतज़ाम करे!

* सर पर गीली पट्टी रखे!

* दिन में दो बार अवश्य नहाये

* हरी सब्जियों का सेवन नियमित रूप से करे!

* ठन्डे कमरे मे रहे

* जब भी घर से बहार निकले तो छाता ज़रूर लेकर जाय , सीधे धुप के प्रभाव से बचे!

* जब भी घर स बहार निकले तो जेब में कटा प्याज ज़रूर रखे!

* कभी भी खाली पेट गर्मियों में बहार न निकले!

(Lu Lagne Par Prathmik Upchar In Hindi)

कच्चे आम के पन्ने का सेवन करे – आम फलो का राजा हैं और इस रजा की  डिमांड गर्मियों में और भी ज्यादा बढ़ जाती हैं, क्यूंकि इसके फायदे हैं ही इतने गुणकारी, लू लगने पर भी अगर आम के पन्ने का नियमित रूप से सेवन किया जाए तो लू जेसी समस्या को तो पल में गायब किया जा सकता हें!

प्याज का जूस – (Lu Lagne Par Prathmik Upchar In Hindi) लू लगने पर अगर इस उपचार को अपनाया जाए तो ये आपके लिए एक बेहद फलकारी उपचार साबित हो सकता हैं, कच्चे प्याज के रस या एक टुकड़े को कान व छाती के पास लगाने से लू का प्रभाव कम होता हैं! कच्चे प्याज के रस को जीरा डालकर शरबत की तरह पिने से भी आपको इसके लाभ देखने को मिल सकते हैं!

आम पन्ना – कच्चे आम को उबाल कर और उसके गुद्दे को निकाल कर और उसमे थोडा पानी मिलाये और साथ ही साथ थोड़ी सौंफ, जीरा, पुदीना भी और अब इसके बाद इसे ठंडा कर के सेवन करे! गर्मियों में ये आम का पन्ना आपका बहुत साथ देने वाला हैं!

दोस्तों अगर आप या आपके कोई करीबी लू से पीड़ित हैं तो आप हमारे द्वारा बताये गए इन उपचारों को अपना सकते हैं!

(Lu Lagne Par Prathmik Upchar In Hindi) आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा और इससे संबंधित अगर आप हमें कोई अपना सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में आप कमेंट कर सकते हैं ।

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here