sar ke dard ka ilaj in hindi

Sar Ke Dard Ka Ilaj In Hindi:- दिनभर की काम की भागदौड़ और थकान के कारण सिरदर्द होना आम बात है, लेकिन काम के दबाव के साथ साथ तनाव भी सिरदर्द का अहम और मुख्य कारण बना हुआ है|अगर आपको बार बार सिरदर्द हो जाता है तो ये बिमारी माइग्रेन का रुप ले लेती है|जिसमें सिर के आधे हिस्से में दर्द होता है जो कि कई बार असहनीय हो जाता है|जिससे निजात पाने के लिए लोग क्रोसिन और पैरासिटामोल जैसी दर्दनिवारक दवाओं का इस्तेमाल करते है |इसके अलावा खाली पेट और ज्यादा टेंशन लेने से भी सिरमें दर्द होने लगता है| ऐसे में कब्ज की शिकायत पैदा करने वाले भोजन से ,सख्त परहेज करना चाहिए|

सिर दर्द का इलाज – Sar Ke Dard Ka Ilaj In Hindi

  • नाडी शोधन, पवनमिकतासना, भ्रामरी प्राणायाम, स्वरगासन, और सूर्य नमस्कार जैसे व्यायाम आपकी सिरदर्द से लड़ने में काफी मदद करते है|
  • तेज मसालेदार और धूम्रपान से परहेज करके आप सिरदर्द को बढ़ने से रोक सकते है|
  • सिरदर्द में आप नाक में 2-2 बूंदे सरसों के तेल की डाले आपको सिर के दर्द में आराम मिलेगा|
  • जायफल को चावल के पानी में अच्छे से घिसकर सिर पर लगाएं आपको सिर के दर्द से छुटकारा मिल जाएगा|
  • पानी में दालचीनी का पेस्ट मिलाकर इसको अपने माथे पर लगाए आपको सिर के दर्द से राहत मिल जाएगी|
  • तुलसी की पत्तियों की चाय या गुनगुना पानी पीने से सिरदर्द ठीक हो जाता है |
  • सेब पर नमक डालकर खाने से यह सिरदर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करता है |
  • सिरदर्द में काली मिर्च और पुदीने की चाय का सेवन करने से आपको सिरदर्द से निजात मिल जाता है|
  • सिरदर्द होने पर कुछ कुछ देर बाद हल्का बहुत पानी पीते रहिए आपको सिरदर्द से निजात मिल जाता है|
  • बर्फ के कुछ टुकडे एक बैग में भरकर रखें इसे अपने सिर पर कुछ देर तक रखें रहनें दे आपको सिरदर्द से छुटकारा मिल जाएगा|
  • उबलते हुए पानी में जरा सा मधुरस और तुलसी का रस मिलाकर इसे पीये आपका सिर का दर्द ठीक हो जाएगा|
  • इसके अलावा सिर के दर्द का सबसे अच्छा इलाज थोडी देर आराम करें |

सिर के किसी हिस्से में होने वाला दर्द जो कि सिर में एक बिंदु से शुरु होकर अन्य तक फैलता है ,फिर किसी निश्चित स्थान को यह दर्द घेर लेता है |आमतौर पर सिर के दर्द दो प्रकार के होते है पहला प्राथमिक सिर का दर्द और दूसरा माध्यमिक सिर का दर्द |प्राथमिक सिरदर्द में टेंशन और कलस्टर शामिल होते है जबकि माध्यमिक सिरदर्द में प्रतिघात, वज्रपात और स्ट्रैस का होना |सिर के दर्द में मांसपेशियों , रक्तवाहिकाओं और गर्दन की नशों मे विकार और खिंचाव उत्पन्न होता है |एक ही बिन्दु पर कुछ देर तक लगातार दर्द होता रहता है| कभी कभी सिर के दर्द में मतली , उल्टी और बुखार भी आता है |

(Sar Ke Dard Ka Ilaj In Hindi) अगर आपको हमारे द्वारा शेयर की गई ये जानकारी अच्छी लगती है तो इसे लाइक, शेयर और कमेंट कर पूछे हमसे आर्टिकल से जुड़े सवाल

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here