treatment of breast cancer in hindi

Treatment Of Breast Cancer In Hindi:- विश्वभर में ब्रेस्ट कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे है जो कि बेहद भयानक और जानलेवा रोग है| आधुनिक जीनवशाली और रुपरेखा का नकारात्मक परिवर्तन इसका विशेष कारण है|समय पर इसकी सही जांच और देखभाल ना होने के कारण यह तेजी से फैल रहा है आज हम आपको इसके उपचारो और लक्षण की जानकारी देकर आपमें इस रोग के फैलने की जरा सी संभावना को भी दूर करने के उपाए और इलाज आपको बताएंगे|

ब्रेस्ट कैंसर होने पर इन उपायों से करें खुद का बचाब – Treatment Of Breast Cancer In Hindi

स्तन कैंसर का उपचार दवाओं, रेडियोथैरेपी, कीमोथैरेपी और सर्जरी से किया जाता है जैसे-

  • दवा- अगर गांठ समान्य है तो विटामिन ई की दवा ली जाती है|इसके अलावा डाक्टर विटामिन ई और आयल का प्रयोग करते है, (Treatment Of Breast Cancer In Hindi) स्तन कैंसर के निवारण के लिए अन्य लाभकारी दवाओं का प्रयोग भी किया जाता है|    
  • शल्य चिकित्सा- स्तन कैंसर के निदान के लिए श्य चिकित्सा सबसे असरदार इलाज माना गया है , इसमें कैंसर वाले भाग को सर्जरी द्वारा निकाल दिया जाता है|शल्य चिकित्सा के बाद यह रोग 2 से 3 हफ्ते में ठीक हो जाता है|
  • विकिरण-कीमोथैरेपी के बाद विकिरण का प्रयोग किया जाता है जो कि कैंसर के बचे हुए सेल्स को खत्म करने में लाभकारी साबित होता है|तीन से छः हफ्ते तक एक सप्ताह में ये विकिरण 2-3 बार पुनः दिया जाता है|
  • कीमोथैरेपी औषाधि चिकित्सा-शरीर में कैंसर के विषैले तत्व दोबारा ना फैल पाएं इसके लिए विकिरण के 2 माह बाद रोगी को कीमोथैरेपी दिया जाता है|कीमोथैरेपी के बाद भी रोगी को ठीक होने में 2 माह की अतिरिक्त समय लग जाता है|
  • गर्भनिरोधक गोलियां- ऐसा देखा गया है कि गर्भवस्था के बाद महिलाएं लगतार बिना डाक्टर की सलाह लिये गर्भनिरोधक और निवारक गोलियों का सेवन करती रहती है इन गोलियों के सवन से मोटापा बढ़ता है और स्तन कैंसर का खतरा ज्यादा बढ जाता है|
  • स्तन परिक्षण- कैंसर के प्रभाव से बचने के लिए और इसकी रोकथाम के लिए खून की जांच के साथ स्तन का परिक्षण अवश्य करवाएं|मैमोग्राफी टेस्ट ऐसा टेस्ट है जो कि स्तन कैंसर के परिक्षण लाभकारी साबित होता है |अक्सर यह रोग 30 वर्ष के बाद ही आपको परेशान कर सकता है|
  • स्तनपान- डिलीवरी के बाद महिलाएं अक्सर केवल 6 माह तक ही बच्चे को स्तनपान करवाती है जिससे की बच्चे के साथ साथ माता का भी स्वास्थ बिगड़ता है ,(Treatment Of Breast Cancer In Hindi) ऐसे में स्तनपान करवाना महिलाओं को स्तन कैंसर से बचाने के लाभकारी साबित होता है|
  • संतुलित और पोष्टिक आहार-महिलाओं को अपने भोजन में तीखे, मासलेदार और नशें जैसी चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए|इसके अलावा अधिक वसा वाले भोजन से भी परहेज कैंसर से बचाब में असरदार साबित होता है|
  • व्यायाम- शरीर में कैंसर जैसा भयानक रोग ना होने पाएं इसके लिए आप रोजाना व्यायाम और योगासन को अपने रुटीन में शामिल करें|जैसे- कपालभारती, अनुलोम विलोम,क्षिकोणासन,सूर्यनमस्कार और मयूरासन योगों को अपने जीवन में अपनाकर खुद को कैंसर के प्रकोप से बचाएं|

ब्रेस्ट कैंसर की लक्षण-

  • ऊतकों में गांठ और सूजन होना
  • ब्रेस्ट की त्वचा का लाल होना
  • निप्पल्स से खून का रिसाव होना
  • स्तनों के आकार में परिवर्तन होना
  • स्तनों में खुजली होना

(Treatment Of Breast Cancer In Hindi) स्तन कैंसर अडिनोकार्सिनोमा ग्रंथि में उत्पन्न होने वाला कैंसर होता है जो कि 30 वर्ष की आयु के बाद महिलाओं में पाया जाता है|शरीर में इस कैंसर के पनपने से एस्ट्रोजन की मात्रा शरीर में बढ़ जाती है|जिसके बाद स्तनों के आकार में बदलाव, गांठ और दर्द महसूस होता है|इसके अलावा मैमोग्राम,एमआरआय और सोनोग्राम जैसे टेस्ट करवाकर वंशानुगत ब्रेस्ट कैंसर का पता लगाया जा सकता है|

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here