What is bird flu and its symptoms

What is bird flu and its symptoms:-बर्ड फ़्लू को एवियन इनफ़्लुएंज़ा कहा जाता है क्योंकि इस वाइरस से होने वाली बीमारी मुख्यतर पक्षियो में पाई जाती है| 1997 में इसका पहला संक्रमण मनुष्यो में पाया गया था और इसके कारण कई लोगो की मौत हुई है इसीलिए इस वाइरस को गंभीरता से लेना चाहिए. 

बर्ड फ्लू क्या है (What Is Bird Flu and Its Symptoms)

Bird flu kya hai aur iske lakshan बर्ड फ्लू एक वायरस है जिसे H5N1 से जाना जाता है और कहा जाता है कि यह बत्तक द्वारा मुर्गिओं में फैलाया जाता है और यह पशुओं को भी अपनी चपेट में ले लेता है| ख़ास कर एशिया के देशों में बहुत ज्यादा है जैसे वियतनाम,इंडिया,बांग्लादेश,चीन,मिश्र इत्यादि|इस वायरस के बहुत से प्रकार होते है, और इन सभी को प्रोटीन के आधार पर वर्गीकरण होता है इन्फ्लुएंजा A टाइप के वायरस ज्यादा फैलते हैं| अमेरिका मे पाए जाने वाले बर्ड फ़्लू के वायरस एशिया मे पाए जाने वायरस से कुछ अलग है|

बर्ड फ्लू कैसे होता है (What Is Bird Flu and Its Symptoms)

  • बर्ड फ़्लू एक संक्रमण बीमारी है जो फैलता है जब एक संक्रमित पक्षी दूसरे के करीब हो तब उसके मल से, छींकने से, खांसने से और पानी को संक्रमित करने से दूसरे पक्षी मे बर्ड फ़्लू सिम्पटम्स प्रकट होने लगते है और ऐसे इनफ़्लुएंज़ा फैल जाता है
  • मनुष्यो में भी ठीक उसी प्रकार फैलता है जैसे मर्गियों से मुर्गियों में फैलता है. जब कोई व्यक्ति मुर्गियों के आसपास रहता है तो मुर्गियों से उस आदमी में आ जाता है फिर वह व्यक्ति किसी और व्यक्ति के संपर्क में आएगा तो वह भी बर्ड फ्लू से संक्रमित हो जाता है|
  • संक्रमित पक्षी को खाने से या उसके अंडे खाने से बर्ड फ़्लू का फैलाव नहीं होता है.लेकिन ध्यान रहे वह पके हुए होने चाहिए| 

मुर्गियों में बर्ड फ्लू के लक्षण 

ऐसा माना गया है कि (What Is Bird Flu and Its Symptoms) जंगली बतखो से मुर्गिओं मे बर्ड फ़्लू वाइरस फैल गया. 

  • पक्षी को बर्ड फ़्लू वाइरस लग जाए तो उसमे एवियन फ़्लू लक्षण नज़र आएँगे जैसे की दिमाग़ अंगो को काबू मे हीं रख सकता है और पंछी लड़खड़ाता  है.
  • बिना किसी कारण अगर पक्षी मर जाता है तो. 
  • दस्त हो जाए, सर फूल जाए, आँखो मे सूजन हो जाये, नाक मे से पानी बहता रहे और अंडे कम देती है तो.
  • खांसना और छींकना भी बर्ड फ़्लू के लक्षण है.
  • पैर, चोंच के उपर और नीचे वाटलेस का रंग बदल जाना यह बर्ड फ़्लू के लक्षण है. 

बर्ड फ़्लू के लक्षण मनुष्यो मे कैसे पहचाने

  • बर्ड फ्लू से ग्रसित लोगों को पहले तेज़ बुखार आता है|
  • खाँसी आना और गले मे खराश लगना भी इसका एक लक्ष्ण है |
  • यह लक्षण तो अन्य वाइरस से भी होते है मगर साथ मे आँखो मे कंजंक्टिवाइटिस(conjunctivitis) हो तो ठोस लक्षण है. 
  • मासपेशियो मे दर्द होना भी बर्ड फ्लू के लक्षण हैं| 
  • नज़र अंदाज़ करे तो आगे जाके निमोनिया, शवसन तकलीफ़ और गहरे असर होते है| bird flu kya hai aur iske lakshan.

बर्ड फ्लू से बचाव के उपाय 

  • बर्ड फ़्लू से संक्रमित होने से बचने के लिए सबसे पहला कदम है कि अगर महामारी चल रही हो तो बर्ड फ़्लू के टीके लगवा ले. 
  • बर्ड फ्लू से बचाव के लिए संक्रमित पक्षियो से दूर रहे, ऐसे जगहों पर ना जाएँ जहाँ संक्रमित मुर्गियों के होने कि संभावना हो और ऐसी जगह जाना भी पद गया तो मुर्गियों के करीब ना जायें और उनको ना छुऐं
  • मुर्गी का मॉस या अंडा कच्चा ना खाएँ उनको अच्छी तरह पका लें तब उनका सेवन करें|
  • ऐसे हालातो में पोल्ट्री फार्म मे ना जाए ना ही बर्ड देखने के लिए जंगल में जाए. 
  • अपना इम्युनिटी सिस्टम(रोग प्रतिरोधक) बाधाएं|

बर्ड फ़्लू का इलाज

  • बर्ड फ़्लू सिम्पटम्स नज़र आने पर तुरंत टैमी फ़्लू की गोली ले. 
  • कच्चे पपीता का रस या तो पपीते के पत्ते का रस पीए. 
  • लहसुन, काली  मिर्च, प्याज, अदरक और हरी मिर्च से बने सूप का सेवन करे. 
  • आमला, यष्टिमधु, काली मिर्च को मिला कर सेवन करे तो जल्दी से रिकवरी आएगी.  
  • पुदीने के पत्तो और तुलसी के पत्तो का रस मरीज़ को पिलाए. 
  • गहरे लक्षण प्रकट हो जैसे की दस्त, उल्टी, खून आना, बहुत तेज बुखार, साँस लेने मे तकलीफ़ तो तुरंत हॉस्पिटल पहुँचाए मरीज़ को. 

दोस्तों आपने जाना कि बर्ड फ्लु क्या है कैसे फैलता है और इसका इलाज़ क्या है|अगर आपको इस आर्टिकल से सम्बंधित कुछ सुझाव देना है तो आप नीचे कमेंट कर सुझाव दे सकते है|

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here