Back Pain Treatment In Hindi

Back Pain Treatment In Hindi:– Back Pain या कमरदर्द की समस्या एक आम समस्या है| आज कल की रोज़मर्रा की जिंदगी में तनाव के कारण सर दर्द, मोटापा, कमर दर्द आदि समस्यायो का का होना ये एक आम सी बात हो गयी है,इसका प्रभाव निजी जीवन पर भी पड़ता है|

वैज्ञानिको की माने तो  पुरे विश्व में 80-95% लोगो को कमर दर्द की समस्या होती है इन आकड़ो में महिलाओं की संख्या पुरुषो के मुकाबले अधिक है| ये नतीजे हमारी खुद की अपने शरीर के प्रति लापवाही के  कारण ऐसे होते है, इन आकड़ो का सुधार किया जा सकता है किया जा सकता है अपनि जीवन शैली में सुधार करके, आइये रुख करते है कमर दर्द, कमर दर्द के लक्षणों और कमर दर्द के कारणो कि ओर और जानते है कमर दर्द के बारे में विस्तार से|

कमर दर्द क्या होता है?

दिनभर बहुत सारा काम करन और उसके बाद अच्छी तरह से आराम न कर पाने की वजह से कमर दर्द  की शिकायत होती है| (Back Pain Treatment) कमर दर्द का 2-4 दिन में में ठीक हो जान अबहुत महतवपूर्ण होता है परन्तु यदि ऐसा नही  होता तो ये एक चिंता का विषय है क्यूंकि इसकी वजह से आपको उठने-बैठने, चलने-फिरने में समस्या हो सकती है| कमर दर्द की अधिकत्र शिकयत मुख्यत: उन महिलाओं और पुरुषो को होती है जो दिन भर बैठे-बैठे सारा काम करते है| कमर दर्द  दिखने और सुनने में एक सामान्य दर्द सा लगता है परन्तु इसकी नब्ज़ को यदि सही वक्त पर नही पकड़ा गया तो ये बड़ा घात पंहुचा सकता है किन्तु इसके इलाज से पहले हम जान लेते है की किन कारणों से ये कमर दर्द की समस्या होती है और कमर दर्द के क्या लक्षण होते है|

कमर में होने वाले दर्द के कारण

हम जिन प्राकर्तिक कारणों से बीमार पड़ते है उसके साथ साथ हमारे बीमार और अस्वस्थ होने का कारण हमारी जीवन शैली का बदलना भी होता है| हम अपने  दैनिक जीवन की कुछ आदतों में परिवर्तन लाकर कमर दर्द की शिकायत से आजादी पा सकते है|

  • लम्बे समय तक बैठना हमारे शरीर में सबसे भारी अंग हमारा दिमाग होता है और उसकी का प्रयोग हम अत्यधिक करते है| इसलिए दिमाग को सुचारू रूप से काम करवाने में रीढ़ की हड्डी एहम भूमिका निभाती है क्यूंकि इसके के कारण हम एक स्थिति में बैठे बैठे काम कर सकते है| शहरों में कंप्यूटर के आगे घंटो बैठने से हमारी मांसपेशिया थक जाती है और लम्बे समय तक अगर हम अपनी इस आदत को नही बदलते तो ये दर्द और थकान है जो स्थायी हो जाती है और कार्म दर्द का रूप ले लेती है|
  • आधुनिक उपकरणों की बुरी आदत आजकल आधुनिकता का युग है इसलिए लोग ऐसे गैजेट्स के आदि हो गये है उनके उपयोग किये बना एक क्षण भी नही रह सकते| लेकिन स्वस्थ्य  की दृष्टि से ये काफी हानिकारक होते है क्युकी  उनका उपयोग करते करते करते हम एक मुद्रा में बैठे रहते है जिस कारण हमको कन्धा, गर्दन और कमर दर्द से गुजरना पड़ता है|
  • अत्यधिक फैशनेबल होना फैशन के चलते टाइट-टाइट कपडे पहनना और टाइट बेल्ट पहन कर शरीर को तनाव में लाने से भी कमर दर्द की समस्या होती है|
  • अनुचित गाड़ी का चयन गाड़ी खरीदते समय उससे मिलने वाली सुविधाओं का ध्यान रखना हमारी कमर को असुविधा में ला देता है| क्यूंकि गाड़ी में बैठ-कर यदि असहज महसूस हो और गाड़ी चलाने में भी  परेशानी हो तो ये कमर दर्द को बढ़ाता है|
  • उचित और उपयोगी व्यायाम करते समय सावधानी न बरतना व्यायाम करने से पहले और करते समय सलाह दी जाती है की  किन व्यायामों को करना रोग के आधार पर ठीक रहेगा| व्यायामों को करते समय डॉ द्वारा बतायी  गयी सावधानियो को नजर अंदाज़ करने से भी  कमर दर्द की समस्या होती है|
  • सही वजन अक्सर देखा जाता है की कमर दर्द की शिकायत अधिक वजनदार लोगो को होती है| यदि आप अपनी लम्बाई अनुसार अपन वजन को संतुलित रखे तो आप पाएंगे की आपका शारीरिक गठन अनुकूल लगेगा और कमर दर्द जैसी समस्या भी नही होगी| अब आइये जानते है की किन लक्षणों को पहचान कर  हम सही समय पर अपने कमर  दर्द से छुटकारा पा सकते है|

कमर दर्द की पहचान (लक्षण)

  • (Back Pain Treatment) कमर दर्द एक सामान्य से दर्द की तरह होता है परतु वक्त के साथ ये भयंकर रूप ले लेता है| निम्लिखित लक्षणों को पहचान कर हम कमर दर्द का इलाज करवा सकते है|
  • कमर दर्द की शुरुआत पहले कमर के पिछले हिस्से से होती है|
  • कमर दर्द एक ही अवस्था में काफी देर तक बैठे रहने से कमर दर्द होती है, यदि आप एक्स-रे करवाते है तो आप देखेंगे की आपकी रीढ़ की हड्डी स्पेस या अंतर आ गया होगा यही लक्षण कमर दर्द का होता है|
  • यदि आपकी कमर में कड़ापन आ गया है और आपको रोते और लेटते समय ही आराम मिलता है तो समझ जाइए की आप कमर दर्द की भयंकर दिशा कि ओर जा रहे है|
  • (Back Pain Treatment) आपके दिन की शुरुआत कमर दर्द की शिकायत के साथ होती है और यह दर्द धीरे धीरे दिन के साथ बढ़ता चला जाता है तो ये संकेत है कमर दर्द के होने का है|

कमर दर्द के इन लक्षणों को यदि सही वक्त पर नही पहचाना गया तो कमर दर्द की भयंकर शिकायत बनकर उभर आती है|

कमर दर्द की पहचान

कमर दर्द से कैसे राहत मिल सकती? (Back Pain Treatment In Hindi)

    • कमर दर्द से निजात पाने के लिए कई तरह के उपाए करके छुटकारा पाया जा सकता है।
    • महिलाओ को सलाह दी जाती है की वह अपनी शारीर की क्षमता को देखते हुए ही दुपहिया वाहन का चयन करे।
    • कभी बिस्तर से उठते समय सीधे न उठे बल्कि करवट लेते हुए बिस्तर से उठे इससे आपको कमर दर्द की शिकायत नही होगी।
    • किसी प्रशिक्षित प्रशिक्षक के मार्गदर्शन में उससे सलाह लेकर ही कोई व्यायाम करे।
    • कामकाजी लोगो और विद्यार्थियों से आग्रह किया जाता है की यदि आप अत्यधिक समय बैठ कर बिताते है तो आप बीच बीच में उठ कर 5-5 मिनट का ब्रेक लेकर काम करे। ऐसा करने से आपकी प्रोडक्टिविटी बनी रहती है साथ ही आप[के शारीर को भी आराम मिलता रहता है।
    • मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल करते समय एक मुद्रा में या झुक कर इस्तेमाल न करे।
    • लम्बी हिल्स वाली सेंडल को पहनने से बचे।
    • अच्छे से अच्छे डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले।

(Back Pain Treatment) कमर दर्द से चुकारा पाने के लिए हमको अपनी जिंदगी के प्रति थोड़ा सजग होना होगा और छोटी-छोटी लापरवाहियो को करने से बचना होगा। जरा सी लापवाही हमको हमारी बुजुर्ग अवस्था में परेशान कर सकती है। कमर दर्द एक ऐसी स्तिथि है जो जानलेवा तो नही होती परन्तु ये यदि हद से ज्यादा बढ़ जाये तो एक स्वस्थ व्यक्ति को ताउम्र बिस्तर पर लाचार बनकर लेते रहने पर मजबूर कर सकती है।

(Back Pain Treatment In Hindi) पाठको यदि आपको ये लेख पसंद आया या आप हमारे इस लेख के प्रति कोई सुझाव देना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट ज़रूर करे।

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here