brain se judi bimari ko kam kaise kare in hindi

Brain Se Judi Bimari Ko Kam Kaise Kare In Hindi:-दिमाग से जुड़ी बीमारी कई प्रकार की हो सकती है और यह किसी भी प्रकार की क्यों ना हो आपको और आपकी हेल्थ को तकलीफ अवश्य पहुचाती है, किसी किसी को आधे दिमाग में दर्द होने की शिकायत होती है, किसी को भूलने की शिकायत होती है वही कही बार किसी के दिमाग की नस डैमेज हो जाती है जिसके कारण उसको शरीर में अन्य बीमारी हो जाती है।

आज हम इस आर्टिकल में आपको कुछ ऐसे घरेलू उपचारों के बारे में बताने जा रहे है जिस्से आप दिमाग से जुड़ी कई बीमारियों को दूर कर सकते है।

तो आइये जानते है ऐसे ही कुछ उपचारों के बारे में।(Brain Se Judi Bimari Ko Kam Kaise Kare In Hindi)

*हल्दी: मस्तिष्क क्षति के लिए प्राकृतिक इलाज के रूप में हल्दी का उपयोग करने की सिफारिश की जाती है। कर्क्यूमिन जो हल्दी का घटक होता है, जब यह खपत होती है तब शरीर में सूजन को राहत देता है। यह घटक मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। इसके अलावा हल्दी और उसके घटक हल्दी में आपके शरीर में प्रभावी रक्त प्रवाह को बढ़ावा देने की क्षमता होती है जो आपके मस्तिष्क को सुनिश्चित कर रहा है कि आपके पास मस्तिष्क में पर्याप्त ऑक्सीजन प्रवाह होगा। हल्दी की सबसे अधिक सिफारिश की गई खुराक 500 मिलीग्राम प्रति दिन हल्दी का कैप्सूल है, यदि आप सबसे अच्छे परिणाम चाहते हैं।

* मालिश: शायद यह उपाय मस्तिष्क क्षति के लिए आपके प्राकृतिक उपचार के रूप में अच्छा नहीं लग रहा है, लेकिन यह उपाय आपके सभी शरीर में उचित समारोह को बहाल करने में मदद करता है। इस पद्धति में लिम्फ द्रव का प्रवाह, शरीर में कचरे के चयापचय और परिसंचरण में सुधार होता है। जब इन कार्यों में सुधार होता है तो वे मस्तिष्क को फिर से जीवंत करने के लिए काम करता हैं।

* एक्यूपंक्चर: कई प्रसिद्ध दवा संस्थान हैं जो वैकल्पिक चिकित्सा को एक्यूपंक्चर जैसे मस्तिष्क क्षति के लिए प्राकृतिक उपचार के रूप में समर्थन करते हैं। इस पद्धति ने आपके शरीर को पुन: संतुलन पर केंद्रित किया है जो मस्तिष्क क्षति के लक्षणों के इलाज में आपकी मदद कर सकता है।

* हरी चाय🙁Brain Se Judi Bimari Ko Kam Kaise Kare In Hindi) हरे रंग की चाय में पाया जाने वाले कैटेचिन बहुत ही मस्तिष्क क्षति को सुधारने में मदद करते हैं जो न्यूरोडेगेंटेरेक्टिव विकारों के कारण होता है।

ध्वनिक न्युरोमा घर उपाय, चिंता, अलिंद फैब्रिलेशन, फफोले, मस्तिष्क क्षति भी इन रसायनों ने पार्किंसंस रोग, मनोभ्रंश और अल्जाइमर रोग से मस्तिष्क की सुरक्षा करते हैं। कैटेचिन (रसायनों) जो एंटी ऑक्सीडेंट हैं, वे मस्तिष्क की कोशिकाओं की रक्षा करते हैं जो कि मुक्त कणों के कारण हो सकते हैं। ये मुक्त कण मस्तिष्क के उन कोशिकाओं पर हमला करते हैं जो उनकी मृत्यु के लिए आगे बढ़ते हैं। इसके अलावा वे मस्तिष्क कोशिकाओं को नष्ट करते हैं।

brain se judi bimari ko kam kaise kare in hindi

* नारियल का तेल: यह दुनिया में स्वास्थ्यप्रद तेलों में से एक है। यह फैटी एसिड के साथ समृद्ध है जो मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं।

* फल और सब्जियां: ये विटामिन सी, लाइकोपीन और बीटा-कैरोटीन के प्रमुख स्रोत हैं जो शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट हैं। मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बनाए रखने में फलों और सब्जियों के समीप एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं क्योंकि वे मुक्त कण से मस्तिष्क की सफाई कर रहे हैं जिससे मस्तिष्क क्षति हो सकती है। इसके अलावा वे स्मृति हानि,(Brain Se Judi Bimari Ko Kam Kaise Kare In Hindi) समन्वय और संतुलन में सुधार कर सकते हैं। फलों और सब्जियां जो विरोधी ऑक्सीडेंट के साथ समृद्ध हैं, ब्रोकोली, जामुन, अंगूर, स्क्वैश, चेरी, प्रिुन, किशमिश, पत्तेदार साग, बेल मिर्च और टमाटर हैं।

* पूरे अनाज: इसमें पोषक तत्व होते हैं जो अनाज के सभी भागों में शामिल होते हैं। पूरे अनाज आपको अधिक चीजें देते हैं जो आपके शरीर में होनी चाहिए जैसे कि प्रोटीन, एंटी-ऑक्सीडेंट और फाइबर रिफाइंड अनाज की तुलना में। यदि आप बहुत अधिक चीनी और सफेद आटे का उपभोग कर रहे हैं, तो इससे मस्तिष्क क्षति हो सकती है और आपके शरीर में रक्त शर्करा के स्तर भी बढ़ेगी। यदि आप इन स्थितियों से अपने शरीर की रक्षा करना चाहते हैं, तो आपको पूरे अनाज का उपभोग करना चाहिए।

दोस्तों जैसा कि हमने शुरू में कहा था कि हम आपको दिमाग से जुड़ी समस्याओं के उपचारों के बारे में  बतायेंगे, तो आपने जाने कुछ ऐसे असरदार घरेलू उपचार जिसका पालन नियमित रूप से करने से आप अपने दिमाग से जुड़ी समस्याओं का अंत करके एक बेहतर ज़िन्दगी जी सकते है।

(Brain Se Judi Bimari Ko Kam Kaise Kare In Hindiआपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा और इससे संबंधित अगर आप हमें कोई अपना सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में आप कमेंट कर सकते हैं ।

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here