danto ki problem in hindi

Danto Ki Problem In Hindi:- खाने को सुचाऱु रुप से पचाकर उसे आपके शरीर तक पहुंचाने का काम हमारे दांत करते है , मोती जैसे आपके सुंदर और मंजबूत दांत आपकी स्माइल को यादगार बनाते है |लेकिन दांतों से जुडे कुछ रोग जो जैसे दांतो में कैविटी का होना, दांतों में पायरीयॉ की समस्या, दांतों का समय से पहले गिरना और मसूड़ों से खून का रिसाव होना हमारे दांतों के लिए हानिकारक होते है |जो कि हमारे दांतों के कमजोर करके हमारे स्वास्थ को बनाए रखते है|चलिए जानते दांतो से जुड़े इन्ही रोगों के बारे में विस्तार से ……

दांतो की बिमारी के लक्षण दांतों में सड़न,जलन, सूजन, दांतों में ठण्डा गर्म लगना, दांतों का समय से पहले गिरना, और मसूढो से खून का रिसाव होना|

पायरिया-पायरीया दांतो से जुड़ा एक ऐसा रोग है जो कि मसूडो की सूजन से शुरु होकर दांतो के गिरने पर खत्म होता है|दांतो, जीभ, मसूड़ो, और पूरे मुंह की नियमित अच्छे से सफाई ना होने पर दांतो के बाच खाना सड़ने लगता है, जिससे में बैक्टीरीया पनपनकर मुंह के भीतर बदबू और मुंह में सूजन जैसी समस्या को पैदा करते है|जिससे दांतों कमजोर होने के साथ दांत गलकर गिरने लगते है |यह समस्या जल्दी ठीक नहीं होती दांतो से जुड़ी इसी बिमारी को हम पायरीया कहते है|

दंत क्षरण -दांतो से जुड़ा एक और रोग है जिसमें जीवाणु के द्वारा की गई जैविक क्रियाएं दांतों को क्षतिग्रस्त कर देती है, जिसे दंत छिद्र भी कहते है|(Danto Ki Problem In Hindi) दंत छिद्र दो जीवाणुओं के कारण होता है पहला स्ट्रेप्टोकॉकस म्युटान्स (Streptococcus mutans) और दूसरा लैक्टोबैसिलस (Lactobacillus)|दंत क्षय दांतों में क्षारिय अम्ल के कारण होता है, दंत क्षय के अध्ययन को क्षयविज्ञान Cariology कहते है|

दांतों का मसूड़ों –दांतो को ठीक से साफ ना करने से दांतो पर पपड़ी जमने लगती है|धीरे धीरे दांतों पर जमी पपड़ी सख्त होने लगती है, जिससे मसूडे खराब होने शुरु हो जाते है|कैविटी के लगातार दांतो पर जमने से दांतों और मसूडो से खून का रिसाव होना शुरु हो जाता है इसे ही हम मसूडो की सूजन और फूलन करार देते है|

दांतों की सड़न –दांतो की सफाई ना करने पर दांतो में कीड़े, कैविटी और जख्म होने लगते है |जिससे दांतों पर पीलापन जमने लगता है| ऐसे में इस समस्या से मुक्ति पाने के लिए दांतों को नियमित दो से तीन बार ब्रश करना शुरु करें|

दांतो का फोड़ा-दांतों में खाने के कुछ फंस जाने से दांतों के आसपास की त्वचा में छोटे छोटे सुराख हो जाते है जिससे इन सुराख में खाना सड़ने लगता है|

दांतों के रोग से बचाव के लिए ये करें (Danto Ki Problem In Hindi)

  • नियमित रुप से दांतों की साफ सफाइ करें
  • तले और मसालेदार खाने से परहेज करें
  • कठोर चीजों के सीधे सेवन से बचे
  • मीठी और खट्टी चीजों का ज्यादा सेवन ना करें
  • धूम्रपान और तंबाकू का सेवन ना करें
  • ज्यादा तेज ठण्डी और गर्म चीजो को खाने से बचे

दांत हमारे शरीर का अहम हिस्सा होते है| इसलिए हमें खानपान संबधी कुछ सावधानियों को अपनाकर और नियमित रुप से इनकी साफ सफाई करके दांतों से जुडी परेशानियों से बच सकते है|इसके अलावा सेंस्सिटिव दांतों को मजबूत बनाने के लिए और पायरीया जैसी परेशानियों से इन्हे दूर रखने के लिए हमें ज्यादा गर्म और ठण्डा खाना खाने से बचना चाहिए|

(Danto Ki Problem In Hindi) दांतों से जुडे कुछ रोग कैसे आपके सुंदर और मोती समान दांतों को नुकसान पहुंचाते है,इन्ही रोगो के बारे में आज हमने आपको विस्तार से बताया है|इसे जानकार आप भी इन रोगों से मुक्ति पा सकते है….हमारे द्वारा शेयर की गई सभी पोस्टस को आप लाइक , शेयर और कमेंट करना ना भूलें|

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here