loo lagne ke lakshan or ilaj in hindi

(loo lagne ke lakshan or ilaj in hindi) अक्सर देखा जाता है गर्मियों के मौसम में लोगो को बड़ी ही मुश्किलो का सामना करना पड़ता है, बहूत ज्यादा गर्मी और तेज़ धुप के कारण हर किसी को इस मौसम में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है,इन्ही परेशानियों में से एक है लू लगना, चाहे वो बच्चा हो या बड़ा, हर इसी को इस परेशानी से जूझना पड़ता है, लू खुद में ही एक प्रकार की बीमारी का कारण है और साथ ही साथ इसकी वजह से कई अन्य बीमारियों का भी सामना करना पड़ता है, जिसकी वजह से हमारे शरीर पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है

शायद आप जानते भी होंगे लूं हमारे लिए कितनी खतरनाक है लू लगने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं उनमें से प्रमुख है ज्यादा देर धूप में घूमना या फिर पानी का कम सेवन करना जिसके कारण हमारे शारीर में पानी की कमी हो है

(loo lagne ke lakshan or ilaj in hindi) जब आपको लू लगती है तब आपका शारीर कुछ लक्षण देता है जिसको पहचान कर आपको पता लग सकता है की लू ने आपको अपनी चपेट में ले लिया है –

  • अगर आपकी सांस फुल रही हैं तो यह लू लगने का एक लक्षण हो सकता है।
  • अगर आपके शरीर की तवचा हल्की लाल होने लगी हैं तो ऐसा लू लगने का एक कारण भी हो सकता है।
  • लू लगने पर बेहोशी जैसा महसूस होता है।
  • लू लगने की वजह से अक्सर जी मिचलाने और उलटी जेसी समस्या आती हैं।
  • (loo lagne ke lakshan or ilaj in hindi) शरीर की मांसपेशी कमजोर पड़ने लगती हैं और शरीर में दर्द भी रहने लगता हैं ये  लू लगने का कारण हो सकता हैं!
  • जब गर्मी भी ज्यादा हो और आपको पसीना भी न आये तो बस समझ जाइए की आपको लू लग गयी हैं, ये लू लगने का सबसे बड़ा लक्षण हैं!

अगर आप घरेलु उपचारों का सहारा लेते है तो लू से बाख सकते है और यदि आपको लू लग गयी है तो आप उसको जल्द से जल्द ठीक भी कर सके है, तो आईये जानते है कुछ घरेलु उपचार जिनकी मदद से आप लू से अपना बचाव कर सकते है –

  • (loo lagne ke lakshan or ilaj in hindi) आहत व्यक्ति को पहले छांव में ला कर हवा का इंतजाम करें। गर्मी के कारण शरीर का तापमान बढ़ जाता है। छाया में लाने से शरीर का तापमान सामान्य आना शुरु हो जाता है।
  • उसको नमक शक्कर और पानी का घोल मुँह से पिलायें, उसके कपड़े निकालकर सिर्फ अंदरूनी वस्त्र रखें। शरीर पर हल्का सा गर्म पानी छिड़कें।
  • गीली चादर में लपेटकर तापमान कम करने का प्रयास करें।
  • हाथ पैर की मालिश करें जिससे रक्त संचरण प्रभावित होता है।
  • संभव हो तो बर्फ के टुकड़े कपड़े में लपेटकर गर्दन, बगलों और जांघों पर रखे। इससे गर्मी जल्दी निकलती है।
  • धूप में घर से बाहर निकलें तो छतरी का इस्तेमाल करें। नंगे बदन और नंगे पैर धूप में ना खड़े हों।
  • नींबू पानी, आम पना, छाछ, लस्सी, नारियल पानी, बेल या नींबू का शर्बत, खस का शर्बत जैसे तरल पदार्थ पीते रहें।
  • ढीले और सूती कपड़े पहनें।
  • खाली पेट बाहर ना जाएं और थोड़ी थोड़ी देर पर पानी पीते रहें।
  • गर्मी से एकदम ठंडे कमरे में ना जाएं।
  • दिन में दो बार नहाएं।
  • हरी सब्जियों का सेवन अधिक करें।
  • खीरा, ककड़ी, लौकी, तौरी जरूर खाएं।
  • ठंडे वातानुकूलित कमरे में रहें।
  • इमली के गूदे को हाथ पैरों पर मलें।
  • शरीर का तापमान तेज होने पर सिर पर ठंडी पट्टी रखें।
  • घर से बाहर निकलते समय जेब में कटा प्याज रखें।

दोस्तों गर्मियों के दिनों में जितना हो सके उतना घर या ऑफिस के अंदर रहे, अगर किसी काम से बहार जाना भी पड़ता है तो थोड़ी थोड़ी देर में पानी का सेवन करते रहे, इस्से आपके शारीर में पानी की कमी नही होगी और आपको लू भी नहीं लगेगी।

(loo lagne ke lakshan or ilaj in hindi) आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा और इससे संबंधित अगर आप हमें कोई अपना सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में आप कमेंट कर सकते हैं।

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here