mansik bimari or depression ke lakshan in hindi

Mansik Bimari Or Depression Ke Lakshan In Hindi:-अक्यर खुश रहने की वजह छोटे से दुख के कारण अदृश्य और कम लगने लगती है| जिसकी वजह से व्यक्ति बुझा बूझा और रोजर्मरा के काम के प्रति मन से उचट हो जाता है|इसके अलावा भागदौड़ भरी इस जिंदगी में व्यक्ति खुद का अच्छे से ख्याल नहीं रख पाता है ऐसे में देर रात तक काम का दबाव और जिम्मेदारियों का बोझ व्यक्ति को अवसाद का शिकार बना देता है आज हम आपको इस विषय पर सटीक और महत्वपूर्ण जानकारी देंगे जिसको अपनाकर आप अवसाद की इस समस्या से कोसो दूर रह पाएंगे|

मानसिक अवसाद से मुक्ति का अचूक उपाचर (Mansik Bimari Or Depression Ke Lakshan In Hindi)

क्या है अवसाद– व्यक्ति का अपने वास्तविक जीवन से ऊब जाना और शांति की तलाश में हर चीज से परहेज करना , दूरी बनाना अवसाद कहलाता है|

किस को ज्यादा होती है अवसाद की समस्यां– दिमाग़ में न्यूरोट्रांसमिट के असंतुलन के कारण भी अवसाद होता है इसका कह पाना मुश्किल है कि अवसाद किन लोगो में ज्यादा होता है यह किसी को भी हो सकता है छोटे बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक किसी को भी ,

अवसाद के लक्षण– अवसाद से ग्रसित व्यक्ति हमेशा निराशा और लाचार महसूस करता है, अवसाद से पीड़ित व्यक्ति के लिए खुशी, (Mansik Bimari Or Depression Ke Lakshan In Hindi) सफलता , संबंध सभी बेईमानी, माने जाते है | अवसाद के भौतिक कारण कुपोषण, आनुवांशुक, हार्मोन,मौसम, बिमारी, नशा, अप्रिय लोगो से लंबे समय तक जुड़े रहना और तनाव आदि होते है मनोवैज्ञानिको द्वारा तो ऐसा माना जाता है कि अवसाद से पीडित लोगो को नींद नही आती और कई बार यह लोगो आत्महत्या तक के शिकार हो जाते है|चलिए जानते है विस्तार से अवसाद से जुड़े कुछ और अहम लक्षण-

भूख ना लगना,अनिद्रा, थकान और आत्महत्या के विचार आना, अकेलापन , बेचैनी , चिंता , उदासीनता , चिड़चिडापन ,और थकान होना आदि |

अवसाद से पीडित व्यक्ति की जीवनशैली में परिवर्तन करवाना पहला उपचार है ऐसे व्यक्ति को अकेलेपन से बचाने के लिए उसके निराशावादी विचारो को सकारात्मक विचारो से उभारे |अवसाद दिमाग में न्यूरोट्रांसमीटर्स रसायन की कमी के कारण होता है जोकि दिमाग और शरीर के बीच सामाजस्य बिठाने का काम करता है इनकी कमी से रोगी के शरीर में संचारगत कमियां आती है जिसके कारण रोगी अवसाद का शिकार होने लगता है|रोगी को निर्णय लेने में अड़चन , (Mansik Bimari Or Depression Ke Lakshan In Hindi) मनोरंजन के प्रति अरुचि और आलस्य जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है|अवसादित व्यक्ति को अपना व्यवहारगत मेलजोल बढ़ाकर सकारात्मक काम्पीटिशनस् में भाग लेना चाहिए| इसके अलावा अवसाद से बचाब के लिए मनोचिकित्सक द्वारा एंटीडिपेसेंट की दवा के सेवन की सलाह भी जाती है|अवसाद से रोगी को मुक्ति दिलाने के लिए लोकप्रिय आयुर्वेदिक पौधा बाह्मी का सेवन करने की सलाह भी होम्योपैथिक चिकित्सक देते है|

अवसाद एक गंभीर और मनोवैज्ञानिक समस्या है जिसमें व्यक्ति खुद को शारीरिक और मानसिक रुप से अस्वस्थ मानता है, और हमेशा नकारात्मक भावो से घिरा महसूस करता है क्योकि अवसाद से ग्रसित व्यक्ति की जीवनशैली बिल्कुल परिवर्तित हो जाती है, इसलिए इसका असर उसके जीवन पर भी पड़ता है लोकिन अवसाद से जुड़ी एक अहम बात यह है कि एक बार इसके प्रभाव में आने पर इसके दोबारा होने की संभावना भी बड़ जाती है|

(Mansik Bimari Or Depression Ke Lakshan In Hindi) आज हमने अवसाद से बचने के उपाये बताएं जिसे अपनाकर आप भी डिप्रेशन और अवसाद के प्रभाव में आने से खुद को बचा सकते है|यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पंसद आया तो इसे लाइक और शेयर जरुर करें|

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here