Pollution Se Bachne Ke Liye Kya Khaye In Hindi

Pollution Se Bachne Ke Upay In Hindi:- पर्यावरण और मानव का संबंध बहुत ही पुराना है | मानव एक सामाजिक पशु है जोकि अपनी आवशयकताओं को पूरा करने के लिए और अपने संपूर्ण विकास के लिए प्रकृति पर निर्भर है अपनी इन्ही आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए मानव आज तरह तरह के जिन क्रियाकलापों में व्यस्त है |उन्ही के कारण पर्यावरण लगातार दूषित हो रहा है |पर्यावरण में कुछ हानिकारक और दूषित तत्वों का प्रवेश जीवमंडल पर मनुष्य और जीव दोनों का रहना मुश्किल बना देता है, ये दूषित और हानिकारक तत्व हवा के साथ मिलकर पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुंचाते है | प्रदूषण कई प्रकार का होता है जैसे – वायु , जल , ध्वनि, प्रकाश और रेडियो धर्मी प्रदूषण आदि | आज हम आपको प्रदूषण से बचाव के कुछ उपाए बतायेंगे, जिससे आप इसके प्रभाव को कम करके इससे बच पाएंगे –

वायु प्रदूषण के प्रभाव – (Pollution Se Bachne Ke Upay In Hindi)

  • हवा में अनचाहे तत्वों की उपस्तिथि के कारण दमा, सर्दी-खाँसी, अँधापन, श्रव का कमजोर होना, त्वचा रोग जैसी बीमारियाँ होने की संभावना बढ़ जाती है |
  • सर्दियों में बादलों में छाने वाले कोहरे में धूएँ और मिट्टी के कणों का समावेश हो जाता है |जिसके कारण प्राकृतिक दृश्यता में कमी आती है और आँखों में जलन होने के साथ ही साँस लेने में कठिनाई होती है।
  • पृथ्वी के चारों ओर ओजोन परत का एक सुरक्षात्मक गैस का घेरा है| जोकि हम सूरज की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणों से हमें बचाता है , लेकिन प्रदूषण के कारण ये जीन अपरिवर्तन, अनुवाशंकीय तथा त्वचा कैंसर के खतरे बढ़ गए है |
  • वायु प्रदूषण के कारण पृथ्वी का तापमान बढ़ता है और सूर्य से आने वाली गर्मी की वजह से पर्यावरण में कार्बन डाईआक्साइड, मीथेन तथा नाइट्रस आक्साइड जैसी हानिकारक गैसों का प्रभाव कम नहीं होता|
  • प्रदूषण की वजह से अम्लीय वर्षा के खतरे बढ़े हैं, क्योंकि बारिश के पानी में सल्फर डाई आक्साइड, नाइट्रोजन आक्साइड आदि जैसी जहरीली गैसों के घुलने की संभावना बढ़ जाती है और इससे फसलों, पेड़ों, भवनों आदि को नुकसान पहुंचता है |
  • ध्वनि अधिक होने पर भी प्रदूषण होता है, जिसे हम ध्वनि प्रदूषण कहते है ये ध्वनि प्रदूषण रेल इंजन, हवाई जहाज, जनरेटर, टेलीफोन, टेलीविजन, वाहन, लाउडस्पीकर आदि आधुनिक मशीनों के कारण होता है |जिससे लंबे समय तक ध्वनि प्रदूषण के प्रभाव में आने से हमारी श्रवण शक्ति का कमजोर हो जाती है , साथ ही सिरदर्द, चिड़चिड़ापन, उच्चरक्तचाप जैसी बिमारिया होने लगती है |

चलिए जानते हैं प्रदूषण से बचाव के कुछ उपाएं –

  • घर से बाहर निकलते वक्त हमेशा मुंह पर मास्क का उपयोग करें और आंखों के लिए चश्में का उपयोग करें |
  • खाना खाने के बाद थोडा़ सा गुड़ जरुर खाएं इससे आप प्रदूषण से कहर से बचे रहेंगे |
  • फेफड़ों के धूल के कणों से बचाव के लिए आप रोज एक गिलास गर्म दूध जरुर पियें आप धूल के हानिकारक कणों से बचे रहेंगे |

pollution se bachne ke upay in hindi

  • अदरक का रस और सरसों का तेल नाक में बूंद बूंद कर डालने से प्रदूषण के हानिकारक तत्व आपको धूल के कणों से बचाते है|
  • प्रदूषण के प्रभाव से खुद को बचाने के लिए आप पानी का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें ऐसा करने से आप दूषित पर्यावरण के कणों को शरीर से बाहर निकल सकेंगे |
  • सुबह शाम की नियमित सेर पर विराम लगाये ,(Pollution Se Bachne Ke Upay In Hindi) खाने में ज्यादा से ज्यादा फलों और सब्जियों का सेवन करें|
  • घर में एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल करें, और घर के बाहर सड़कों को गीला कर रखें ताकि धूल के दूषित कण उड़े नहीं , साथ ही घर में साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें |
  • शहद में काली मिर्च मिलाकर खाएं, आपके फेफड़े में जमी कफ और गंदगी बाहर चली जाएगी |
  • अजवायन की पत्तियों का पानी पीने से खून साफ़ होता है , और शरीर के भीतर मौजूद दूषित तत्व शरीर से बाहर चले जाते है |
  • घर के आस पास कूड़ा न जलाये , और साफ़ सफाई का ध्यान रखें|
  • तुलसी प्रदुषण से आपकी सेहत की रक्षा करती है |नियमित तुलसी के पत्तों का पानी पीने से आप स्वस्थ रहते है |
  • ठन्डे पानी की जगह आप गर्म पानी का सेवन करना शुरू कर दें, ये आपके शरीर में जम कर बैठे घूल के कणों को शरीर से बाहर करता है साथ ही आपको सेहतमंद बनाये रखता है|
  • आसपास के दूषित वातावरण को स्वस्थ रखने में अलोवीरा के पोधा बड़ा ही गुणकारी साबित होता है |
  • फैक्ट्री और कंस्ट्रक्शन साइट्स पर ना जाये , ऐसी जगहों पर धुंआ अधिक होता है |

(Pollution Se Bachne Ke Upay In Hindiमोटर वाहनों के अन्दर से निकलने वाली हानिकारक और जहरीली गैसे जैसे कार्बन-मोनोआक्साइड, नाइट्रोजन-डाइआक्साइड और सल्फर-डाइआक्साइड आदि हवा के भीतर मिलकर इसे दूषित और नुकसानदेह बनाती हैं|इन विषैली गैसों के हवा में समावेश के कारण हवा का दूषित होना ही प्रदूषण कहलाता हैं|लेकिन हमारे द्वारा बताएं गए उपाए आपको प्रदूषण से बचाने में सहायक सिध्द होंगे|अगर आपको हमारे ये आर्टिकल्स पसंद आते हैं तो जरुर इसे लाइक और शेयर करें|

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here