Urine Infection Kaise Hota Hai, Urine Infection In Hindi

Urine Infection Kaise Hota Hai, Urine Infection In Hindi:- यूरिन इन्फेक्शन एक बहूत बड़ी समस्या है, इसमें आपकी पेशाब में जलन से लेके आपकी किडनी,लिवर और ब्लैडर तक में तकलीफ आ सकती है।

बहूत बार ऐसा लगता है कि हमे बहूत ज़ोर से पेशाब आ रहा है और जब हम पेशाब करते है तो बस मानो 2-4 बूंदे ही आती है और उन 2-4 बूंदों में भी अहसहनिये जलन होती है।

कभी कभी हमारा पेशाब इतना डार्क आता है कि मानो कोई गाढ़ा शर्बत निकल रहा हो, यूरिन इन्फेक्शन के कारण हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियां भी लग जाती है।

एक रिसर्च द्वारा पाया गया कि 80% लोगो को कभी ना कभी यूरिन इन्फेक्शन जरूर हुआ होगा ऐसे में हम एंटीबायोटिक्स का सेवन कर लेते है इससे राहत तो तुरंत मिल जाती है पर यह हमारी किडनी पर गहरा असर डालती है।

आज हम इस आर्टिकल में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे है जिससे यूरिन इंजेक्शन होता है,(Urine Infection Kaise Hota Hai, Urine Infection In Hindi) ताकि आप उन बातों का ख्याल रख सके और अपने स्वास्थ्य को बेहतर बना सके।

* यूरिन इन्फेक्शन का सबसे बड़ा कारण है अपनी पेशाब को ज्यादा देर तक रोक के रखना

यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है, यूरिन इन्फेक्शन जानें हिंदी में

अगर हम ऐसा करते है तो इससे हमारे ब्लैडर में बक्टेरिया पनपने लगते है और इससे हमारी पेशाब का कलर गेहरा हो जाता है और साथ ही साथ पेशाब में जलन होती है और पेशाब में अधिक बदबू भी आती है।

तो अबसे आप अपनी पेशाब को अधिक देर तक रोकने की गलती ना करे, इस बात का रात को सौते समय भी ख्याल रखे कि सोने से पहले अवश्य पेशाब करे और फिर निंद्रा अवस्था में जाये।

सुनने में यह बात बड़ी आम सी लगती है पर कभी कभी आम बातें ही बड़ी बीमारी की वजह बन जाती है।

* अधिक से अधिक पूरे दिन में पानी का सेवन ना करना भी यूरिन इन्फेक्शन की वजह बनता है,(Urine Infection Kaise Hota Hai, Urine Infection In Hindi) जितना आप पानी पियेंगे उतना ही इन्फेक्शन आपके शरीर से निकलेगा।

सुबह उठने के बाद 2 ग्लास गुनगुना पानी पिये इससे आपके शरीर से सारे विषैले पदार्थ निकल जायेंगे और इन्फेक्शन का भी खतरा नही रहेगा।

* स्वछ पानी का सेवन ना करना भी यूरिन इन्फेक्शन का सबसे बड़ा कारण है, इसके लिए आप पूरे दिन का पानी अछे से उबाल लें और ठंडा होने पर उसका सेवन पूरे दिन करते रहे।

* महिलाओं को उनके पीरियड्स के दिनों में यूरिन इन्फेक्शन अधिक होता है, इसीलिए आप अपनी साफ सफाई का ख्याल रखे और हो सके उतना पानी पिये।

ज्यादातर महिलाएं पीरियड्स के दिनों में कम पानी पीती है ताकि उनको बार बार बाथरूम ना जाना पड़े बस यही पर वो सबसे बड़ी गलती कर देती है और यूरिन इन्फेक्शन को सामने से बुलावा देती है।

हो सके उतना पानी का सेवन करे खासतौर पर पीरियड्स के दिनों में।

* जिस किसी को लंबे समय से मधु की बीमारी है उसको यूरिन इंफेक्शन होने के चान्सेस अधिक रहते है,(Urine Infection Kaise Hota Hai,Urine Infection In Hindi) मधु की बीमारी में ब्लैडर में अक्सर इन्फेक्शन हो जाता है और बैक्टीरिया का संक्रमण ज्यादा रहता है।

तो जिन लोगो को मधु की बीमारी है उन लोगो को काफी सावधानी रखने की जरूरत है ऐसे व्यक्ति कभी भी अपनी पेशाब को रोक के ना रखे और हो सके उतना पानी का सेवन करे।

* जिस किसी को रीड की हड्डी पे चोट लगी हो उसको यूरिन इन्फेक्शन के चान्सेस अधिक रहते है चोट लगने के कारण मूत्राशय पर नियंत्रण नही रहता और इन्फेक्शन होने लगता है।

तो दोस्तों अपनी साफ सफाई का ध्यान रखे, खूब पानी पिये और यूरिन इन्फेक्शन से अपना बचाव करे।

हमने आपको कुछ ऐसे कारण बताये जिससे आपको यूरिन इन्फेक्शन हो सकता है, और यूरिन इन्फेक्शन सीधा असर आपके ब्लैडर और किडनी पर डाल सकता है तो आपकी सुरक्षा आपके हाथ में है वो कहते है ना बचाव इलाज से ज्यादा महत्वपूर्ण है, अगर आप हमेशा अपना बचाव करेंगे तो आपको कभी इलाज की जरूरत ही नही पड़ेगी।

अगर आपका पेशाब एकदम पानी के कलर की तरह आ रहा है तो इसका मतलब आप बराबर मात्रा में पानी का सेवन कर रहे है और ऐसे में आपको यूरिन इन्फेक्शन की संभावना बहूत कम हो जाती है।

तो दोस्तों आप भी अपना बचाव करे।

(Urine Infection Kaise Hota Hai,Urine Infection In Hindiआपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा और इससे संबंधित अगर आप हमें कोई अपना सुझाव देना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में आप कमेंट कर सकते हैं ।

SHARE
हेलो दोस्तो, मैं हिना खान Health Sagar से , ये मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे हैल्थ सागर के माध्यम से आप लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला |मैं PHD नुयूट्रीशियन हूं और हेल्थ से जुड़े काफी विषयों पर मैंने अध्धयन भी किया है, हैल्थ सागर के रुप में मुझे अपने अनुभव और ज्ञान को लोगो तक पहुंचाने का अवसर मिला है| मुझे यकीन है की यहां शेयर किए गए हेल्थ से जुड़े सभी विषय सूचनात्मक और अध्ययनकारी है, जिसे पढ़कर आपको भी बहुत ही लाभ मिलेगा | धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here